Java Language Kya Hai Aur Java ke Feature Kya Hai

इसी स्मार्टफोन और इंटरनेट के डोर में हमारे दिन की शरुआत बिना मोबाइल के नहीं होती। हम जभी सुबह सोकर उठते है तो हम पहले अपने मोबाइल फ़ोन को देख कर ही उठते है। ऐ हमारी जिंदगी का हिंसा बनगया है। और होभी क्यों न हम अपना सारा काम मोबाइल से ही तो करते है। पहले सामान खरीदने के लिए हमें बाजार जाना होताथा लेकिन अब औ सारे काम हम घर बैठे अपने मोबाइल से ही कर सकते है। लेकिन क्या अपने ऐ कभी चोचा है की ऐ साडी सुविधा हमें मोबाइल से कैसे प्राप्त होती है। दोस्तों ऐ संभव होपाया है एक उच्च लेवल के प्रोगरामिंग लैंग्वेज जावा की वजह से। अगर आप एक कंप्यूटर स्टुडंट है या रहचुके है तो आपने जावा का नाम सुना होगा अब शरू करते है Java Language Kya Hai बारे में पूरी इनफार्मेशन के साथ।

Java Language Kya Hai

जावा एक ओब्जेक ओरिएन्टेट प्रोग्राम लैंग्वेज है जिसे हाई लेवल लैंग्वेज भी कहा जाता है। क्यों की इसे मानव द्वारा आसानीसे पढ़ा और लिखा जा सकता है। जावा एक मल्टीपल प्लेटफार्म और एक डिस्ट्रीब्यूट प्रोगरामिंग लैंग्वेज है। जिसका उपयोग कंसोल एप्लीकेशन , joi आप्लिकेशन , वेब आप्लिकेशन, मोबाइल एप्लीकेशन , और अन्य कई सारे प्लेटफार्म पर किया जाता है।

जावा दूसरी लैंग्वेज की तुलना में सरल , बहेतर , तेज और सुरक्षित प्रोगरामिंग लैंग्वेज है। जिसका प्रयोग वर्तमान समय में केवल कम्प्यूटर्स में ही नहीं बल्कि मोबाइल फ़ोन, टेबलेट , इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइसिस और अदि में भी किया जाता है।

आज कल ऑनलाइन बैंकिंग , ऑनलाइन शॉपिंग , ऑनलाइन फॉर्म , ये सभी जावा की मदद से ही संभव हुवा है। वर्त्तमान में लगभा सभी मोबाइल कम्पनी जावा का सपोर्ट करते है। गूगल मने जावा को लिनक्स के साथ जोड़ते हुवे मोबाइल डिवाइस के लिए एंड्राइड का नाम एक ओपन सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलप्ड किया गया है जोकि आज के समय में काफी मशहूर होचुका है और लगभग सभी बड़ी कंपनी एंड्राइड पालफॉर्म मोबाइल डिवाइस डेवलप्ड करते है।

जावा लैंग्वेज वेब आप्लिकेशन जैसे वेबसाइट ब्लॉग बनाने की सुविधा प्रदान करती है और साथ ही मोबाइल के लिए अप्प्स भी बनाने में मदद करती है। आज के समय में जितने भी वेब पेजेज है औ जावा स्क्रिप्ट पर चलते है और एंड्राइड डिवाइस के लिए बहसरे ऐसे एप्लीकेशन बनाये गए है जोकि जिवामे लिखा गया होता है ऐ एप्लीकेशन एंड्राइड के सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट किट यानि SDK का उपयोग करके बनाया गया है। और अब हम जानते है जावा के इतिहास के बारे में।

Java Language का इतिहास

जावा एक कंप्यूटर बस लैंग्वेजेज प्रोग्राम है जिसे james gosling और उनके साथी sun microsystems ने १९९१ में विकसित किया था। James Gosling को जावा का मुख्य डेवलपर माना जाता है। इस लैंग्वेज के बनाने के पीछे उनका एक ही सिद्धांत था Write Once Run Anywhere जिसका मतलब थे लैंग्वेज को एकहि बार लिखा जायेगा और उसका उपयोग हर जगह किया जायेगा उन्होंने और उनकी टीम ने उसका नाम Oak रखा था जिसके बाद १९९५ में जिसका नाम बदल कर जावा रखदिया गया।

जेम्स गोसलिंग ने इसका नाम पहले Greentalk रखा था जिसके बाद इसको बदल कर Oak रखा गया। यह नाम पहेलेसे ही ओक टेक्नोलॉजी में रेजिस्टेड था इसलिए इसको फिरसे बदल कर जावा रखा गया। जावा का सबसे महत्व पूर्ण और लोग प्रिय फीचर यह है की जावा लैंग्वेज प्लेटफार्म इंडिपेंडेंट होता है। इसका मतलब है की जावा प्रोगरामिंग लैंग्वेज किसी भी हार्डवेयर या ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए नहीं बनाया गया है। इसलिए जावा पर बनाये गए प्रोग्राम किसीभी सिस्टम पर रन किये जा सकते है। जावा का ऐ यूनिक फीचर आज भी जावा को सबसे पॉपुलर लैंग्वेज बनाता है।

JAVA कितने प्रकार के होते है

जावा को मूल रूप में ३ हिस्सों में डिवाइड किया गया है।

  1. Micro Edition (J2ME)
  2. Standard Edition (J2SE)
  3. Enterprise Edition (J2EE)

Java Language के Features

  • जावा एक शुद ऑब्जेक्ट ओरिएंटेड प्रोगरामिंग लैंग्वेज है
  • यह किसी भी प्लेटफार्म में रन हो सकते है जैसे की एंड्राइड, विंडोज, लिनेक्स और मैक।
  • जावा प्रोग्राम सबसे अधिक सुरक्षित है क्यों की जावा प्रोग्राम जावा रन टाइम एनवायरनमेंट में रन होता है।
  • यह लैंग्वेज वायरस फ्री होती है।
  • यह एक आसान, रोबस्ट, पोर्टेबल लैंग्वेजेज है।
  • जावा में बनाये गए प्रोग्राम अलग अलग एनवायरनमेंट में बिना क्रैश हुए काम कर सकता है।
  • जावा एक डिस्ट्रीब्यूटर लैंग्वेज भी है जिससे हम डिस्ट्रीब्यूट ऍप्लिकेशन्स बना सकते है।
  • आसानीसे इंटरनेट में डाटा को एक्सेस क्या जाता है।
  • जावा में बड़े प्रोग्राम को छोटे प्रोग्राम में डिवाइड किया जासकते है।

Leave a Comment